Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

(Apply) UP BC Sakhi Yojana | यूपी बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंट सखी योजना ऑनलाइन आवेदन, पात्रता और लाभ

उत्तर प्रदेश BC सखी योजना 2022 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन @up.gov.in


UP BC Sakhi Yojana Application Form | BC Sakhi Online Form Last Date | UP BC Sakhi App | BC Sakhi Helpline Number | बीसी सखी योजना ऑनलाइन फॉर्म 2022


उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों को बैंकों से जोड़ने की पहल की है। सरकार ने महिलाओं को नौकरी प्रदान करने के लिए एक नई यूपी बीसी सखी योजना (UP Banking Correspondent Sakhi Yojana) शुरू की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 22 मई 2020 को महिलाओं के लिए यह विशेष रोजगार योजना शुरू की है। यूपी बीसी सखी योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएं बैंकिंग सेवाएं प्रदान करेंगी और डिजिटल मोड के माध्यम से लेनदेन करेंगी। इस यूपी बैंकिंग सखी योजना से ग्रामीण लोगों को लाभ होगा और महिलाओं को रोजगार मिलेगा। इस लेख के माध्यम से, हमने UP BC Sakhi Yojana in Hindi में विस्तृत जानकारी साझा की है, इसलिए हमारे लेख को अंत तक पढ़ें और योजना का लाभ उठाएं।

UP Banking Correspondent Sakhi Yojana

यूपी बैंक सखी योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को पैसे के लेन-देन में मदद करना और पैसे तक पहुंच बनाए रखना है। अब राज्य सरकार के रूप में महिलाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में काम करने के लिए महिलाओं को बीसी सखियों के रूप में भर्ती करेंगे। इसके अलावा, लोगों को लाभ होगा क्योंकि उन्हें बैंक के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे क्योंकि "सखी" उनके लिए घर पर पैसे की डिलीवरी करेगी। 

यूपी बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंट सखी योजना ग्रामीण महिलाओं के लिए अच्छी कमाई सुनिश्चित करेगी। सभी नियुक्त बीसी सखियों को अगले 6 महीने की अवधि के लिए रु.4000 प्रति माह दिए जायेंगे। इसके अलावा, महिलाओं को उनकी मासिक आय तय करने के लिए उनके द्वारा किए जाने वाले प्रत्येक लेनदेन पर भी कमीशन मिलेगा।

नई UP BC Sakhi Yojana 2022 ग्रामीण महिलाओं को कमाई के लिए काम दिलाने में सक्षम बनाएगी। साथ ही ग्रामीण बैंक खाताधारकों का तनाव भी कम होगा। योजना के तहत गांवों में करीब 58 हजार बैंकिंग सखी लगाने की योजना है। इस योजना के तहत सरकार ग्रामीण क्षेत्रों और आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को भी रोजगार देगी। इस योजना के तहत बैंकिंग सखी की नियुक्ति की जाएगी, जिन्हें बैंकिंग संबंधी काम के बदले कमीशन दिया जाएगा।

सभी उम्मीदवार जो UP BC Sakhi Yojana Apply Online करने के इच्छुक हैं, फिर आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड करें और सभी पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें। हम "यूपी बैंकिंग संवाददाता सखी योजना 2022" के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्रदान करेंगे जैसे योजना लाभ, पात्रता मानदंड, योजना की मुख्य विशेषताएं, आवेदन की स्थिति, आवेदन प्रक्रिया और बहुत कुछ।

UP Banking Correspondent Sakhi Yojana Details

Name of Scheme

UP Banking Correspondent Sakhi Yojana

in Language

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना

Launched by

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी

Beneficiaries

राज्य की महिलाएं

Major Benefit

4000 रुपये प्रति माह

Scheme Objective

रोजगार प्रदान करना

Scheme under

राज्य सरकार

Name of State

उत्तर प्रदेश

Post Category

योजना

UP BC Sakhi Official Website

http://up.gov.in/

महत्वपूर्ण तिथियाँ

Event

Dates

Starting Date to Apply Online

22 मई 2020

Last Date to Apply Online

अभी तक घोषित नहीं

महत्वपूर्ण लिंक

Event

Links

Apply Online

Registration

UP BC Sakhi Yojana App Download

Click Here

UP Banking Correspondent Sakhi Yojana Portal

Official Website


उत्तर प्रदेश बैंक सखी योजना क्या है ?


जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारा पूरा भारत देश कोरोना वायरस से परेशान है, बेरोजगारी बढ़ती जा रही है और कोरोना वायरस थमने का नाम भी नहीं ले रहा है। इस बेरोजगारी और लोगों की जरूरतों को देखते हुए यूपी बैंकिंग सखी योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने की थी। उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को रोजगार देने के लिए शुरू की गई एक बैंकिंग क्षेत्र की योजना है, जिसके तहत महिलाओं को बीसी सखी बनाया जाएगा और लोगों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए उन्हें ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाना होगा।

Sakhi Yojana के तहत सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग संवाददाता महिलाओं को तैनात करने का निर्णय लिया है ताकि ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को पैसे का लेन-देन करने में कोई समस्या न हो और साथ ही इन महिलाओं को एक निश्चित रोजगार भी मिल सके। ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएं अब डिजिटल मोड के माध्यम से लोगों के दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं और धन लेनदेन प्रदान करेंगी।

बैंक सखी योजना उत्तर प्रदेश को शुरू करने के पीछे मुख्य उद्देश्य सरकार की महिलाओं को एक निश्चित रोजगार प्रदान करना है, इस योजना के तहत खुद को पंजीकृत करने वाली महिलाओं को 6 महीने के लिए रुपये 4000 प्रति माह दिया जाएगा, इसके अलावा महिला जो भी लेनदेन करती है, उस पर उन्हें एक निश्चित कमीशन भी मिलेगा। एवं अन्य आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे।

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि बीसी सखी योजना में ग्रामीण नागरिकों को बैंकिंग सखियों के माध्यम से उनके दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं मिलेंगी। यूपी बीसी सखी योजना को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग 58,000 नियुक्त किए जाएंगे। उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत, बैंकिंग सखी चयन प्रक्रिया पहले ही शुरू हो चुकी है और चयन प्रशिक्षण परीक्षा के माध्यम से किया जाएगा। ग्रामीण स्वरोजगार संस्थान यह इंटर्नशिप प्रदान कर रहा है। 6 दिन के प्रशिक्षण के बाद ग्रामीण महिलाओं की परीक्षा देनी होगी। वे सभी ग्रामीण महिलाएं जो परीक्षा पास करेंगी उन्हें बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंट सखी के रूप में काम करने का मौका मिलेगा।

 

UP Banking Correspondent Sakhi Yojana का क्रियान्वयन


सीएम योगी आदित्यनाथ ने रुपये का रिवाल्विंग फंड आवंटित किया है। यूपी बैंकिंग संवाददाता सखी योजना को लागू करने के लिए लगभग 35,938 स्वयं सहायता समूहों (SHG) को 218.49 करोड़ रुपये। यह राशि 22 मई 2020 को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (NRLM) के तहत जारी की जाती है। यह फंड गैर सरकारी संगठनों में काम करने वाली महिलाओं को मदद करेगा जो मास्क, प्लेट, मसाले का उत्पादन और सिलाई / क्राफ्टिंग का काम कर रही हैं।

यूपी बैंक सखी योजना ऑनलाइन प्रशिक्षण/चयन


  • यूपी बीसी सखी योजना के माध्यम से बड़ी संख्या में महिलाओं को बीसी सखियों के रूप में नियुक्त किया जाएगा। बहुत सारी रिक्तियां हैं, इसलिए सरकार प्रत्येक ग्राम पंचायत से एक महिला को शॉर्टलिस्ट करेगा। प्रत्येक शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवार को पहले प्रशिक्षण दिया जाएगा और फिर प्रमाणन के लिए IIBF परीक्षा आयोजित की जाएगी।
  • यदि महिला आवेदक परीक्षा में अनुत्तीर्ण हो जाती है तो उसका नाम प्रतीक्षा सूची में भेज दिया जायेगा तथा उन्हें पुनः प्रशिक्षण प्राप्त हो जायेगा। प्रमाणन प्रक्रिया पूरी होने के बाद लाभार्थी का नाम पुलिस सत्यापन के लिए भेजा जाएगा और उसके बाद ही महिलाओं को बीसी सखी के रूप में तैनात किया जाएगा।
  • बैंक सखी योजना उत्तर प्रदेश में ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान बैंकिंग सखियों को 6 दिवसीय प्रशिक्षण प्रदान करेगा। इसके बाद सभी चयनित महिलाओं का टेस्ट कराना होगा। जांच के बाद महिलाओं को मिलेगा सर्टिफिकेट प्रमाण पत्र प्राप्त करने के बाद ही महिलाएं ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर लोगों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान कर सकती हैं।
  • प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए 30 महिलाओं का एक बैच बनाया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान महिलाओं को बैंकिंग से जुड़े सॉफ्टवेयर की जानकारी दी जाएगी। इसके अलावा, महिलाओं को पेटीएम, फोनपे, गूगल पे जैसे स्मार्टफोन पर भुगतान ऐप चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

बीसी सखी की जिम्मेदारी


इन महिलाओं की जिम्मेदारी गांव-गांव जाकर लोगों को बैंकिंग के प्रति जागरूक करना है। इतना ही नहीं घर बैठे ग्रामीणों के बैंक से जुड़े जरूरी काम भी होंगे। डिवाइस को बैंकिंग कार्य करने के लिए 50 हजार रुपये भी उपलब्ध कराए जाएंगे। यह योजना राज्य के ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा तैयार की गई है।
  • जनधन सेवाएं
  • लोगो को लोन मुहैया कराना
  • लोन रिकवरी कराना
  • बीसी सखी का मुख्य कार्य बैंक खाते से घर -घर जाकर जमा व् निकासी करवाना है।
  • स्वयं सहायता समूह के सदस्यों की सेवाएं प्रदान करना है।

यूपी बीसी सखी योजना वेतन और कमीशन


  • बीसी सखी योजना के तहत महिलाओं को पहले 6 महीने के लिए रुपये 4000 प्रति माह दिए जाएंगे।
  • इस राशि के अलावा इन महिलाओं को बैंकिंग डिवाइस के लिए अलग से रुपये 50,000 की राशि दी जाएगी।
  • इसके अलावा इन महिलाओं को बैंकिंग गतिविधि यानी लेनदेन के लिए बैंक द्वारा एक निश्चित कमीशन भी दिया जाएगा।

यूपी बीसी सखी योजना के उद्देश्य


  • इसका मुख्य उद्देश्य ग्रामीण परिवारों को घर बैठे ही बैंकिंग सेवाएं प्रदान करना है।
  • यूपी बीसी सखी योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों के प्रत्येक घर में बैंकिंग सेवाएं प्रदान की जाएंगी। 
  • यूपी बैंकिंग सखी योजना से लोग अपने दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं प्राप्त कर सकेंगे और ग्रामीण महिलाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

UP BC Sakhi Yojana की मुख्य विशेषताएं


  • इस यूपी बीसी सखी योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को बैंकिंग संवाददाता सखियों के रूप में नौकरी मिल सकती है।
  • उत्तर प्रदेश बैंकिंग सखी योजना में लगभग 58000 महिलाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।
  • प्रत्येक बैंकिंग सखी के लिए, सरकार करीब 74000 रुपये खर्च करेंगे। आर्थिक तंगी के कारण महिलाओं को यह नौकरी न छोड़ने के लिए अगले 6 माह के लिए वजीफा दिया जाएगा।
  • नौकरी पाने के लिए महिलाओं को यूपी बीसी सखी योजना के लिए आवेदन करना होगा।
  • UP Banking Correspondent Sakhi Yojana न केवल कोरोना काल में गांवों के तटों पर शारीरिक दूरी का पालन करने की चिंता दूर होगी, बल्कि ग्रामीणों को डिजिटल लेनदेन में प्रशिक्षित भी किया जाएगा।
  • इन महिला बीसी सखी का काम ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराना होगा।
  • ग्रामीण लोगों के लिए डिजिटल माध्यम का उपयोग कर महिला बीसी सखी द्वारा लेन-देन का कार्य किया जाएगा।
  • BC सखी योजना का संचालन सरकार द्वारा अभी 6 माह के लिए किया जाएगा, आगे इस अवधि को बढ़ाया या घटाया जा सकता है।

यूपी बीसी सखी बैंकिंग योजना के प्रमुख लाभ


  • यूपी सरकार चयनित महिला उम्मीदवारों को नौकरी प्रदान करेगा और अगले 6 महीनों के लिए वजीफा के रूप में 4000 रुपये भी प्रदान करेगा।
  • डिजिटल उपकरण खरीदने के लिए अतिरिक्त सहायता राशि रु. 50000 सीधे महिला लाभार्थियों के बैंक खातों में स्थानांतरित किए जाएंगे।
  • न्यूनतम मासिक आय सुनिश्चित करने के लिए, बैंक डिजिटल मोड के माध्यम से किए गए प्रत्येक लेनदेन पर कमीशन प्रदान करेंगे।
  • 6 महीने पूरे होने पर महिलाएं कमीशन के जरिए कमाई कर सकेंगी।
  • बैंक सखी योजना उत्तर प्रदेश 2022 में केवल महिला आवेदकों को ही नौकरी मिलेगी और लगभग 58 हजार महिलाओं को रोजगार मिलेगा।

यूपी बीसी सखी बैंकिंग योजना के लिए पात्रता मानदंड


UP BC Sakhi Banking Scheme Eligibility
  • उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना के लिए आवेदन करने के लिए महिला का उत्तर प्रदेश की स्थायी निवासी होना जरूरी है।
  • उत्तर प्रदेश सखी योजना के लिए उन महिलाओं की भर्ती की जाएगी जो पढ़-लिख सकती हैं और साथ ही बैंकिंग का काम भी समझ सकती हैं।
  • उत्तर प्रदेश सखी योजना के लिए उन महिलाओं को वरीयता दी जाएगी जो पहले से ही बैंकिंग क्षेत्र में काम कर रही हैं या बैंकिंग क्षेत्र में काम करने का अनुभव है।
  • बीसी सखी योजना के लिए महिलाओं को इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को संचालित करने की समझ होनी चाहिए।
  • उसे धन संबंधी लेन-देन करने में सक्षम होना चाहिए।
  • उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना के लिए केवल दसवीं पास महिलाएं ही आवेदन कर सकती हैं।

यूपी बीसी सखी योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?


इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सरकार ने एक मोबाइल ऍप लॉन्च किया है। सभी आवेदक जो UP BC Sakhi Yojana Online Registration करना चाहते हैं, तो सभी निर्देशों को ध्यान से पढ़ें और ऑनलाइन आवेदन पत्र को लागू करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें :

यूपी बीसी सखी योजना ऐप में आवेदन कैसे करें ? (UP BC Sakhi Yojana App)


यूपी बीसी सखी योजना, उत्तर प्रदेश सरकार के लिए आवेदन प्रक्रिया को सुविधाजनक बनाने के लिए। एक मोबाइल एप्लिकेशन लॉन्च किया है। यूपी बीसी सखी योजना ऐप पर आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया नीचे दी गई है : 
  • स्टेप 1: सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में Google Play Store पर जाएं। फिर सर्च बार में BC सखी ऐप टाइप करें और फिर सर्च बटन पर क्लिक करें।
  • स्टेप 2: ऐप को सर्च करने के बाद बीसी सखी ऐप लिंक पर क्लिक करें या सीधे https://play.google.com/store/apps/details?id=com.up.srlm.bcselection पर क्लिक करें।
  • स्टेप 3: इंस्टॉल बटन पर क्लिक करें और ऐप अपने आप आपके मोबाइल फोन पर डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा। इसके बाद ऐप को ओपन करें।
  • स्टेप 4: ऐप को ओपन करते ही यूपी बीसी सखी योजना लॉगइन पेज खुल जाएगा। यहां आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा और "लॉगिन" बटन पर क्लिक करना होगा। ओटीपी दर्ज करें और पंजीकरण करें।

  • स्टेप 5: बाद में एक नई स्क्रीन खुलेगी जिसमें कुछ विकल्प होंगे, उन्हें ध्यान से पढ़ें और अगला बटन चुनें।

  • स्टेप 6: अगले लिंक पर क्लिक करने पर, आप सबसे पहले बेसिक प्रोफाइल सेक्शन पर क्लिक करेंगे, फिर सभी जानकारी दर्ज करें, जानकारी जमा करें और इस जानकारी को "सेव एंड सबमिट" करें। प्रत्येक भाग के लिए, आपको पूछे गए विवरण को सटीक रूप से दर्ज करना होगा। यदि आप किसी अनुभाग को पूरी तरह से नहीं भरते हैं, तो आप आगे नहीं बढ़ पाएंगे इसलिए सभी विवरण सही ढंग से भरें।
  • स्टेप 7: फिर आपको सहायक दस्तावेज अपलोड करने होंगे। साथ ही आपको कुछ सवालों के जवाब देने होंगे। आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपको ऐप पर मैसेज मिलेगा। सभी चयनित महिला आवेदकों या जिनका चयन नहीं किया गया है, उन्हें इसके बारे में जानकारी मिल जाएगी।

यूपी बीसी सखी योजना को लागू करते समय इन बातों का ध्यान रखें :

  • बीसी सखी के लिए आवेदन केवल मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से स्वीकार किए जाएंगे।
  • आप बीसी सखी के लिए केवल एंड्रायड फोन के माध्यम से ही आवेदन कर पाएंगे क्योंकि इसकी एप्लीकेशन केवल केबल एंड्रायड फोन यूजर्स के लिए उपलब्ध है।
  • आवेदन में आपको अपना आवेदन पांच चरणों में देना होता है, एक चरण पूरा करने के बाद आप नेक्स्ट के बटन पर क्लिक करके अगले चरण पर जा सकते हैं।
  • जब आप आवेदन में अपनी जानकारी दर्ज करते हैं, तो यह जानकारी आवेदन में सहेजी जाती है। वहीं से शुरू करेंगे जहां रुके थे।
  • अगर किसी कारणवश आपने गलत जानकारी दर्ज कर आवेदन जमा कर दिया है, तो आप इस आवेदन को समय पर संपादित भी कर सकते हैं और सही जानकारी दर्ज करके अपनी जानकारी फिर से जमा कर सकते हैं।
  • जब आपके द्वारा भरी गई सभी जानकारी सही हो तो आप इस आवेदन को अंतिम रूप से सबमिट करें।

BC सखी योजना हेल्पलाइन नंबर


Helpline Number
अगर आप अभी भी किसी भी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप हेल्पलाइन नंबर 8005380270 पर संपर्क करके अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)


बीसी सखी योजना क्या है?
यह सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा घोषित ग्रामीण महिलाओं के लिए एक रोजगार योजना है। प्रत्येक बैंकिंग सखी को लोगों के घर जाने और उन्हें उनके दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने का कार्य दिया जाएगा। लोगों को उनका पैसा उनके घर पर सुरक्षित पहुंचाया जाएगा। इसके अलावा, यह योजना बैंक में कतारों को कम करेगी और इस प्रकार COVID-19 को फैलने से रोकेगी।

क्या यह एक स्थायी या संविदात्मक सरकारी नौकरी है?
प्रारंभिक दिशानिर्देशों के अनुसार, यह नौकरी सरकार के रूप में स्थायी नहीं है। ग्रामीण महिलाओं को वेतन के आधार पर 6 महीने के लिए बैंकिंग सेवाएं करने के लिए नामांकित करेंगे। यह एक संविदात्मक प्रकार का कार्य है। हालाँकि, यह संभव हो सकता है कि 6 महीने बाद, यूपी सरकार। स्थायी नौकरी के लिए महिलाओं का चयन कर सकते हैं।

कितनी नौकरियां प्रदान की जाएंगी?
यूपी बैंकिंग संवाददाता योजना में प्रदान की जाने वाली नौकरियों की कुल संख्या 58,000 है। इसके लिए सीएम पहले ही एक करोड़ रुपये का रिवॉल्विंग फंड जारी कर चुके हैं। 218.49 करोड़ से 35,938 एसएचजी लाभान्वित होंगे।

आधिकारिक लॉन्च तिथि क्या है और इसे किसने लॉन्च किया?
इस योजना की घोषणा सीएम योगी आदित्यनाथ ने 22 मई 2020 को की है और इस योजना का प्रारंभिक स्रोत यूपी सरकार का आधिकारिक ट्विटर अकाउंट है।

बैंक सखी की सैलरी कितनी है?
बीसी सखी योजना के तहत सरकार महिलाओं को अगले 6 महीने तक ₹4,000 प्रति माह की दर से भुगतान करेगी, यानी बीसी सखी योजना के तहत महिलाएं 6 महीने में ₹24000 कमा सकेंगी, साथ ही एक प्रत्येक लेनदेन पर बैंक द्वारा कुछ कमीशन दी जाएगी ।

बीसी सखी योजना के लिए कौन आवेदन कर सकता है?
बीसी सखी योजना के लिए केवल महिलाएं ही आवेदन कर सकती हैं, साथ ही यह महिला भी उत्तर प्रदेश की स्थायी निवासी होनी चाहिए।

क्या बीसी सखी के लिए कोई आवेदन शुल्क है?
अगर बीसी सखी आवेदन शुल्क की बात करें तो फिलहाल बीसी सखी के लिए कोई आवेदन शुल्क नहीं रखा गया है।

बीसी सखी योजना के माध्यम से कितनी महिलाओं को रोजगार दिया जाएगा?
बीसी सखी योजना के माध्यम से पूरे उत्तर प्रदेश में बीसी सखी के पद से लगभग 58000 महिलाओं की नियुक्ति की जाएगी।

यूपी बीसी सखी योजना का लाभ कैसे उठाएं?
यूपी बीसी सखी योजना का लाभ लेने के लिए आपको 10वीं पास करना होगा। आप एक ऐसे मोबाइल या कंप्यूटर से भलीभांति परिचित हैं जिसे आप सामान्य रूप से इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए। आपको अपने ग्रामीण क्षेत्र में डोर टू डोर बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने में सक्षम होना चाहिए।

यूपी बीसी सखी मोबाइल एप्लिकेशन कैसे डाउनलोड करें?
हमने पहले ही उत्तर प्रदेश बैंकिंग सखी योजना के बारे में बताया है, इसके लिए आवेदन केवल मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से किया जा सकता है, नीचे हम यूपी डाउनलोड एप्लीकेशन मोबाइल बीसी सखी हैं, जो आपको यूपी बीसी सखी मोबाइल ऐप का पालन करने की प्रक्रिया को आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

बैंक सखी का क्या काम है ?
उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना के तहत सभी महिला बीसी सखी का मुख्य कार्य घर-घर जाकर ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों की जरूरतों और जरूरतों को पूरा करना है। इससे किसी भी बैंक या किसी एटीएम में भीड़भाड़ की समस्या खत्म हो जाएगी और बीसी सखी बेहद सावधानी से लोगों के घर जाकर लेन-देन को पूरा करेगी। इस कार्य के एवज में सरकार द्वारा बीसी सखी को ₹4000 प्रतिमाह दिया जाएगा और यह कार्य लगभग 6 माह तक चलेगा अर्थात बीसी सखी योजना का लाभ लेने वाली महिलाएं लगभग ₹24000 कमा सकेंगी और उन्हें भी दिया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments