Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

(Apply) Krishi Input Subsidy Scheme 2022 | बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना ऑनलाइन आवेदन पात्रता और लाभ

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2022 किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन @dbtagriculture.bihar.gov.in


Krishi Input Subsidy Scheme Apply | Krishi Subsidy Scheme Form | Krishi Input Subsidy Yojana Beneficiary List | Bihar Krishi Subsidy Scheme Status Check


Latest Updated News : 
  • बिहार में किसानों के बैंक खातों में भेजे गए 1220 करोड़ : श्री कुमार ने कहा कि खरीफ फसल के लिए 652 करोड़ रुपए और रबी फसल के लिए 568 करोड़ रुपए की राशि किसानों के खाते में अंतरित की गई। खरीफ फसल की क्षति को लेकर 15.32 लाख किसानों और रबी फसल के लिए 18.39 लाख किसानों के खातों में सीधे राशि ट्रांसफर की गई है। उन्होंने कहा कि अतिवृष्टि, अल्पवृष्टि और बाढ़ से किसानों को दिक्कतें हुई हैं लेकिन सरकार ने त्वरित कार्रवाई कर फसल क्षति की भरपाई की है।

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना मुख्य रूप से बिहार सरकार के मार्गदर्शन में विकसित की गई है। कृषि विभाग ने बिहार में किसानों के लाभ और कल्याण के लिए कृषि इनपुट अनुदान योजना शुरू की। इस योजना के तहत, बिहार सरकार किसानों को कृषि विकास के लिए सब्सिडी प्रदान करती है। कृषि इनपुट सब्सिडी योजना में बीज, कृषि उपकरण, परिवहन, सिंचाई सुविधा आदि की खरीद के लिए सब्सिडी शामिल है। यह योजना जुलाई से सितंबर के महीने के दौरान बाढ़, सूखे या बारिश से प्रभावित फसलों के लिए सब्सिडी प्रदान करती है। इस योजना के तहत किसानों को प्रति किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर भूमि पर सब्सिडी मिलेगी। इस लेख के माध्यम से, हमने Krishi Input Subsidy Scheme in Hindi में विस्तृत जानकारी साझा की है, इसलिए हमारे लेख को अंत तक पढ़ें और योजना का लाभ उठाएं।

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना बिहार किसान ऑनलाइन पंजीकरण, पात्रता, लाभ

Krishi Input Subsidy Scheme 2022 के तहत जिन किसानों की फसल बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित हुई है या उनकी वृद्धि को काफी नुकसान हुआ है, वे आवेदन कर सकते हैं। सरकार की इस पहल से उन किसानों को फायदा होगा जो इस स्थिति का शिकार हुए हैं। उन किसानों को सरकार द्वारा अधिकतम 13,500 रुपये प्रति हेक्टेयर अनुदान दिया जाएगा। राज्य की कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत औरंगाबाद, भागलपुर, बक्सर, गया, जहानाबाद, कैमूर, मुजफ्फरपुर, पटना, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर और वैशाली जैसे क्षेत्र शामिल हैं।

कृषि अनुदान योजना बिहार यह सुनिश्चित करेगी कि किसी भी व्यक्ति को प्राकृतिक आपदाओं का परिणाम न भुगतना पड़े और हमारे किसान इसके प्रभाव से सुरक्षित रहें। सरकार किसानों को इस प्रकार लाभ देगी, बारानी (असिंचित) फसल क्षेत्र के लिए 6,800 रुपये प्रति हेक्टेयर, सिंचित क्षेत्र के लिए रु. 13,500 प्रति हेक्टेयर एवं कृषि योग्य भूमि के लिए रु.12,200 प्रति हेक्टेयर जहां रेत / गाद जमा 3 इंच से अधिक है। 

किसान बिहार राज्य के डीबीटी पोर्टल (dbtagriculture.bihar.gov.in) के तहत कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इस योजना के तहत प्रदान की जाने वाली सब्सिडी राशि सीधे किसानों के बैंक खाते में स्थानांतरित कर दी जाती है। हालांकि, इस योजना के तहत सब्सिडी प्राप्त करने के लिए किसानों के खाते को आधार संख्या से जोड़ना होगा।

सभी उम्मीदवार जो Krishi Input Subsidy Scheme Apply Online करने के इच्छुक हैं, फिर आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड करें और सभी पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें। हम "कृषि इनपुट सब्सिडी योजना" के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्रदान करेंगे जैसे योजना लाभ, पात्रता मानदंड, योजना की मुख्य विशेषताएं, आवेदन की स्थिति, आवेदन प्रक्रिया और बहुत कुछ।

Krishi Input Subsidy Scheme Details

Name of Scheme

Krishi Input Subsidy Scheme

in Language

कृषि इनपुट अनुदान योजना

Launched by

बिहार सरकार द्वारा

Name of Department

प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार

Beneficiaries

राज्य के किसान

Major Benefit

वित्तीय सहायता

Scheme under

राज्य सरकार

Name of State

बिहार

Post Category

योजना

Official Website

https://dbtagriculture.bihar.gov.in/

महत्वपूर्ण लिंक

Event

Links

Apply Online

Registration

कृषि इनपुट अनुदान खरीफ मौसम पुनर्विचार हेतु आवेदन(2019-20)

Click Here

dbtagriculture.bihar.gov.in check status payment

Click Here

Krishi Input Subsidy Scheme Portal

Official Website



बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना क्या है ?


कृषि इनपुट सब्सिडी योजना ने हमारे देश के किसानों को सुरक्षा का आभास दिया है। जब सूखे, ओलावृष्टि, बाढ़ आदि की बात आती है, तो हमारे देश के कृषि क्षेत्र और किसान बड़े पैमाने पर कमजोरियों के शिकार होते हैं। यह कृषि क्षेत्र हमारे राष्ट्र के आर्थिक विकास की समग्र प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कृषि क्षेत्र ने पहले ही हमारे राष्ट्र की आर्थिक समृद्धि में उल्लेखनीय योगदान दिया है और आर्थिक विकास में इसकी भूमिका महत्वपूर्ण है। दूसरे शब्दों में, कृषि क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ है जो राष्ट्रीय आय में योगदान देता है, खाद्य आपूर्ति का एक स्रोत है, और ग्रामीण लोगों को अधिकतम रोजगार के अवसर प्रदान करता है।

कृषि क्षेत्र के महत्व को ध्यान में रखते हुए, केंद्र और राज्य सरकारें इस क्षेत्र को बढ़ावा देने और इसके हितों की रक्षा के लिए बड़े पैमाने पर कदम उठा रही हैं। पहले से ही किसान कई जोखिमों का सामना कर रहे थे, पहले से मौजूद मौजूदा मुद्दे में कोरोनावायरस चरण जोड़ा गया। इसी को ध्यान में रखते हुए बिहार सरकार ने सूखे, बाढ़ आदि से प्रभावित फसलों पर सब्सिडी देने के लिए "कृषि इनपुट सब्सिडी योजना" शुरू की है।

प्राकृतिक आपदा के कारण किसानों की फसलों को नुकसान होने पर सरकार द्वारा कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत सब्सिडी प्रदान की जाती है। कृषि इनपुट योजना के तहत, सरकार द्वारा अधिसूचित प्राकृतिक आपदाओं और स्थानीय आपदाओं के लिए राज्य सरकार की सहायता निर्धारित DBT के माध्यम से किया जाता है।

वर्तमान योजना बिहार राज्य सरकार का एक उत्कृष्ट प्रयास है जो Krishi Input Subsidy Scheme नाम की अम्ब्रेला योजना का लाभ प्रदान करके किसानों की आर्थिक स्थिति का ध्यान रखेगी और जीवन में सुधार करेगी। कृषि इनपुट सब्सिडी योजना भारत में किसानों की महत्वपूर्ण समस्याओं को कई संभावित तरीकों से दूर करेगी। इस योजना के तहत, बिहार सरकार किसानों को कृषि के विकास और विकास के लिए सब्सिडी प्रदान करती है। कृषि इनपुट सब्सिडी योजना में कृषि उपकरण, बीज, सिंचाई सुविधा, परिवहन आदि की खरीद के लिए सब्सिडी शामिल होगी।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना

आवेदन शुल्क (Processing Fee)


आवेदक अपना आवेदन नि:शुल्क ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। हालांकि, सामान्य सेवा केंद्र (CSC) या वसुधा केंद्र के माध्यम से आवेदन करने के मामले में, उन्हें आवेदन शुल्क के रूप में 10 रुपये का शुल्क देना होगा।

कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत सब्सिडी की राशि


खरीफ सीजन के दौरान फसल के नुकसान से प्रभावित किसानों को या कम वर्षा के कारण परती भूमि को 6800 रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से सब्सिडी राशि प्रदान की जाएगी।
  • असिंचित फसलों के लिए 6800 रुपये प्रति हेक्टेयर का भुगतान किया जाएगा।
  • सिंचित फसलों के लिए 13500 रुपये प्रति हेक्टेयर का भुगतान किया जाएगा।
  • बारहमासी फसलों के लिए 18000 रुपये प्रति हेक्टेयर का भुगतान किया जाएगा।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2022 के उद्देश्य


  • प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल खराब होने पर किसानों को सब्सिडी प्रदान करना।
  • किसानों को खेती में हुए नुकसान की भरपाई के लिए।
  • कृषि क्षेत्र की रक्षा के लिए, इसके विकास को गति प्रदान करना और किसानों को सुरक्षा के साथ जीवन बिताने के लिए प्रोत्साहित करना।
  • राज्य के किसानों और कृषि क्षेत्र के हितों की रक्षा करना और तदनुसार योगदान देना।

Krishi Input Subsidy Scheme की मुख्य विशेषताएं


  • कृषि अनुदान योजना सूखे या बाढ़ से प्रभावित फसलों के लिए सब्सिडी प्रदान करती है।
  • इस योजना का लाभ ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से लिया जा सकता है।
  • कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत केंद्र सरकार और राज्य सरकार के कुछ मापदंड हैं, इसके तहत खरीफ में खड़ी फसलों में ओलावृष्टि के कारण स्थिति उत्पन्न होने पर किसानों को सब्सिडी प्रदान करने का प्रावधान किया गया है।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आपके जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने की आवश्यकता है।
  • बिहार में जहां 3 इंच से अधिक बालू/गाद जमा है, वहां कृषि योग्य भूमि के लिए रुपये 12,200 प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाएगा।
  • Krishi Input Subsidy Scheme Bihar के तहत किसानों को प्रति किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर भूमि पर सब्सिडी मिलेगी।
  • जुलाई बाढ़ के लिए सब्सिडी प्रदान किए गए किसानों को सितंबर के महीने के लिए सब्सिडी के लिए फिर से दावा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  • कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत कृषि विभाग के प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (DBT) पोर्टल में पंजीकृत किसान ही लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • सब्सिडी की राशि सीधे पंजीकृत किसान के बैंक खाते में जमा की जाएगी।

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के प्रमुख लाभ


  • बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान के लिए सहायता प्रदान करना।
  • इस योजना में असिंचित क्षेत्र में फसल के लिए 6800 रुपये प्रति हेक्टेयर और सिंचित क्षेत्र के किसान को ओलावृष्टि से फसल के नुकसान पर 13500 रुपये प्रति हेक्टेयर दिया जाता है।
  • कृषि योग्य भूमि जहाँ बालू / सिल्ट का जमाव 3 इंच से अधिक हो, के लिए 12,200 रु प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जायेगा।
  • एक किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर के लिए अनुदान ले सकता है।
  • कृषि इनपुट अनुदान योजना(2021-22) Bihar में प्रति हेक्टेयर न्यूनतम 1000 रुपये सहायता प्रदान करने का प्रावधान है।
  • Krishi Anudan Yojana के तहत सब्सिडी राशि डीबीटी के माध्यम से दी जाती है; ऐसे में आधार कार्ड के जरिए खाते में पैसा भेजा जाता है।
  • राज्य के इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं वह इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना के लिए पात्रता मापदंड


Krishi Input Subsidy Scheme Eligibility
  • केवल बिहार के स्थायी निवासी किसान ही इस योजना का लाभ उठाने के पात्र हैं।
  • प्रत्येक किसान जिसके पास बिहार राज्य में अपनी खेती योग्य भूमि है, इस योजना के तहत पात्र है।
  • सभी श्रेणी के किसान जिनके पास बिहार राज्य में अपनी जमीन है, इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • इसी तरह की कोई योजना के तहत पहले से पंजीकृत किसान कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आवेदन करने के पात्र नहीं हैं।
  • इस योजना का लाभ किसान केवल ओलावृष्टि या बेमौसम बारिश से अपनी कृषि भूमि के नुकसान के लिए उठा सकता है।

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज़


Required Document for Krishi Input Subsidy Yojana
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • मूल निवासी प्रमाण पत्र
  • मतदाता पहचान पत्र
  • बैंक खाता
  • खेती के दस्तावेज (किसान के पास एलपीसी/भूमि रसीद/वंशावली/जमाबंदी/बिक्री पत्र होना चाहिए।)
  • किसान के शेयरधारक होने की स्थिति में, खेती + स्व-भूमि के मामले में भूमि के दस्तावेज के साथ स्व-घोषणा पत्र संलग्न करना अनिवार्य है।


बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ?


कृषि अनुदान योजना किसानों को लाभान्वित करने के लिए विभाग ऑनलाइन पंजीकृत किसान ही होगा। आवेदक द्वारा आवेदन पत्र सफलतापूर्वक जमा करने पर, इन सभी आवेदनों को कृषि समन्वयक को अग्रेषित किया जाएगा। कृषि समन्वयक को 20 दिनों के भीतर विवरण को सत्यापित करना होता है और वह या तो आवेदन को स्वीकार करेगा या कारण के साथ आवेदन को अस्वीकार कर देगा। स्वीकृत आवेदन को संबंधित कृषि अधिकारी को अग्रेषित किया जाएगा। संबंधित अधिकारी प्रभावित भूमि के साथ किसान का फोटो लेगा और सत्यापन के बाद अपलोड करेगा।

सभी योग्य आवेदक जो Krishi Input Subsidy Scheme Online Registration करना चाहते हैं, तो सभी निर्देशों को ध्यान से पढ़ें और ऑनलाइन आवेदन पत्र को लागू करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें :

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन करने के स्टेप (Krishi Input Subsidy Scheme Application Form)


बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना

  • स्टेप 2-आवेदक को पोर्टल के होमपेज पर प्रदर्शित “ऑनलाइन आवेदन करें” बटन पर क्लिक करना होगा। 
  • स्टेप 3- उन्हें विभिन्न विकल्पों की ड्रॉपडाउन सूची से "कृषि इनपुट अनुदान" का चयन करने की आवश्यकता है)
बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना
  • स्टेप 4-कृषि इनपुट सब्सिडी विकल्प का चयन करने पर, आवेदक एक नए पृष्ठ पर पहुंच जाएंगे। आवेदक को अपना पंजीकरण नंबर दर्ज करना होगा और पृष्ठ पर “खोज” बटन पर क्लिक करना होगा। आगे बढ़ने से पहले, आवेदक को उसी पृष्ठ पर दिए गए सभी आवश्यक निर्देशों को पढ़ना होगा।
  • स्टेप 5-अंत में, आवेदन पत्र स्क्रीन पर दिखाई देगा; आवेदक को उस फॉर्म को विभिन्न विवरणों जैसे नाम, आयु, पता, आधार संख्या, पंचायत, किसान की श्रेणी, जन्म तिथि, पिता का नाम आदि के साथ भरना होगा।
  • स्टेप 6-फिर किसानों को अपनी भूमि (अधिकतम 2 हेक्टेयर होनी चाहिए), किसान प्रकार और फसल क्षति के कारण का विवरण भरना होगा।
  • स्टेप 7-अब, किसानों को शेष विवरण भरना होगा, जैसे प्रदान की गई जगह में खेती योग्य भूमि का विवरण, और फिर आवेदक को घोषणा भाग भरना होगा और “ओटीपी” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • स्टेप 8- “ओटीपी” बटन पर क्लिक करने के बाद, किसान के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक अद्वितीय कोड प्राप्त होता है, और उन्हें इसे सत्यापित करना होता है।
  • स्टेप 9-अब, किसानों को स्व-घोषणा फॉर्म का चयन करना होगा और जांचना होगा कि उन्होंने सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड किए हैं या नहीं।
  • स्टेप 10- एक बार किसान ने सभी आवश्यक विवरण दर्ज कर लिए हैं; वे “सबमिट” बटन पर क्लिक करके आवेदन कर सकते हैं।
  • स्टेप 11- जमा करने के बाद, आवेदन संख्या या संदर्भ संख्या भविष्य के संदर्भ के लिए आवेदकों के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के रूप में भेजी जाती है।

लॉगिन कैसे करे ? (Krishi Input Subsidy Scheme Login)


  • आपको एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट, बिहार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज पर आपको लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने निम्नलिखित ऑप्शन खुल कर आएंगे।
  1. लॉगिन करे (विभागीय)
  2. लॉगिन करे रिपोर्ट हेतु (विभागीय/बैंक/अन्य)
  3. फॉर्म मैनेजमेंट
  4. लॉगिन करे (साइल कंजर्वेशन)
  5. लॉगिन करे (सीड/फर्टिलाइजर/इंसेक्टिसिड लाइसेंस)
  • आपको अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगइन आईडी तथा पासवर्ड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप लॉगिन कर सकेंगे।

आवेदन की स्थिति कैसे जांचे ? (Track Application Status)


सफलतापूर्वक आवेदन जमा करने के बाद, आवेदक यहां दिए गए चरणों का पालन करके आवेदन की स्थिति को ट्रैक कर सकता है :
बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना
  • स्टेप 3: स्क्रीन पर इनपुट सब्सिडी रबी (फरवरी और मार्च) पेज शो के लिए आवेदन की स्थिति की जाँच करें।
  • स्टेप 4: अब महीने (फरवरी, मार्च, अप्रैल) का चयन करें और आवेदन संख्या दर्ज करें।
  • स्टेप 5: स्क्रीन पर सर्च बटन और आपकी भुगतान स्थिति शो पर क्लिक करें।

पावती प्रिंट कैसे करे ?


कृषि इनपुट अनुदान योजना

  • इसके बाद आपको पावती के प्रकार का चयन करना होगा।
  • अब आपको डाटा का चयन करके अपनी आईडी दर्ज करनी होगी।
  • आपको शो रिकॉर्ड्स के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप आपकी प्रिंट कर सकेंगे।

लाभवंती किसान सूची कैसे देखे ?


बिहार कृषि अनुदान योजना

  • आपको अपने जिले, प्रखंड, पंचायत तथा योजना का चयन करना होगा।
  • अब आपको View Record के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप Beneficiary Farmer List देख सकेंगे।

आवेदन फॉर्म प्रिंट कैसे करे ?


  • आपको Bihar Agriculture Official Website पर जाना होगा।
  • इस होम पेज पर आपको प्रिंट का सेक्शन दिखाई देगा आपको इस सेक्शन पर क्लिक करना होगा और फिर इस सेक्शन में से इनपुट सब्सिडी प्रिंट का ऑप्शन दिखाई देगा।
बिहार कृषि इनपुट योजना
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा । इस पेज पर आपको अपनी रजिस्ट्रेशन संख्या भरनी होगी।
  • फिर बाद आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा। बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म आ जायेगा और आप Application Form को प्रिंट के बटन पर क्लिक करके प्रिंट कर सकते है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना हेल्पलाइन नंबर


Helpline Number

कृषि इनपुट अनुदान योजना पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)


कृषि इनपुट सब्सिडी योजना क्या है ?
कृषि इनपुट अनुदान योजना राज्य सरकार द्वारा उन किसानों को राहत राशि प्रदान करने के लिए शुरू की गई है जिन्होंने प्राकृतिक आपदाओं में अपनी फसल खो दी है।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना किसने शुरू की ?
बिहार राज्य सरकार

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आधिकारिक पोर्टल क्या है ?
dbtagriculture.bihar.gov.in

Post a Comment

0 Comments